किसानों की बढ़ाई परेशानी बे मौसम बारिश ने पहला सुखा और अब लगातार बारिश की मार

महाराष्ट्र के हिंगोली मैं बिना मौसम की बारिश ने किसानों की मुश्किलें बढ़ाई ज्यादा बारिश फ़सल में कपास और पपीते का बहुत ज़्यादा नुक्सान हो गया है वहीं कुछ पिछले चार दिनों से बारिश हो रही है बिजली गिरने से हिंगोली जिले में 10 जनवरी को मौत भी हुई है जिलाधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार बारिश और बिजली के कारण दो लोग गंभीर रूप से चोटिल हुए हैं और एक किसान की बिजली से मौत भी हो गई है जिले में रहने वाले कुछ किसानों ने बताया है कि पिछले तीन वर्ष ऑन से खेती में घटा चल रही है बे मौसम बारिश तो कभी सूखा पड़ जाता है और और लगातार फसलों में नुकसान झेलना पड़ता है किसानों ने बताया इस साल 10 एकड़ खेती में केला पपीता कपास और द्वारा की खेती करी थी और सभी किसानों ने सोचा था कि इस साल अच्छा फायदा होगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ

मौसम की मार पड़ी खेती पर

मौसम की मार बड़ी खेती पर शुरू में बारिश न होने के कारण फसल सूख गई उसके बाद बिन मौसम बरसात से बची कोच्ची फसल भी बर्बाद हो गई किसानों ने बताया है कि पिछले साल जो नुकसान हुआ था अब तक बीमा और पैसा बिल्कुल नहीं मिला है जिले के किसानों का यह कहना है कि खेत का सर्वे करने के लिए कोई भी अधिकारी खेत में नहीं आया है जिससे कि हमें बीमा का पैसा मिल सके

8GNIg3hyplU HD

पपीते की खेती में कैसा हुआ बड़ा नुकसान

हिंगोली के जिले मे किसान सबसे ज्यादा पपीते की खेती ही करते हैं बे मौसम बारिश के कारण पपीते खेती पूरी बर्बाद हो गई है किसानों ने बताया कि सभी किसान भाइयों ने सोचा था इस साल अच्छा मुनाफा होगा पपीते की खेती से लेकिन ऐसा नहीं हुआ सुख पढ़ने के कारण खेती बर्बाद हो गई हो वासी कुछ ही खेती बिन मौसम बरसात में नष्ट कर दी और सभी किसान भाइयों ने यही बताया है की कोई भी अधिकारी अभी तक पंचनामा करने के लिए नहीं आया है इस कारण बीमा के पैसे भी अभी तक नहीं मिले हैं

बारिश से मराठवाड़ा मैं सबसे ज्यादा हुआ नुकसान

महाराष्ट्र का मराठवाड़ा क्षेत्र पिछले कुछ दिनों से भी मौसम बारिश के कारण बहुत सी फैसले बर्बाद हो गई है मराठवाड़ा में 37 हजार 109 हेक्टर क्षेत्र में असली बर्बाद होने की खबरें सामने आई है नुकसान संभाजी नगर जिले के किसने का हुआ है इस क्षेत्र में पिछले कुछ दो दिनों से भारी बारिश हो रही है बे मौसम बारिश के कारण 598 गांव पर प्रभाव हुआ है जिसमें के अकेले संभाजी नगर के 509 और परभणी के 75 गांव बे मौसम बारिश के नुकसान से प्रभावित है

Leave a Comment