गन्ने की फसल में कीट एवं रोगों का ऐसे करें उपचार

written By caneup.in

Image Credit: Google

Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल उन्नत तरीके और अधिक उत्पादन प्राप्त करने लिए किसान को इन की फसल में कीट और रोग का सही समय नियंत्रण करना चाहिए।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल में पाइरिल्ला प्रमुख कीट है, इन के नियंत्रण के लिए आप क्विनालफॉस 25 प्रतिशत 800 मि.ली. प्रति हैक्टर इन के अलावा अन्य स्पर्श प्रभावी कीटनाशक दवाई का छिड़काव करें।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल में लाल सड़न रोग का नियंत्रण के लिए ग्रसित फसल को काट के नष्ट करे या नैटिवो 75 डब्ल्यूडीजी या कैब्रियो 60 डब्ल्यूडीजी 500 पीपीएम का छिड़काव करना चाहिए।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल में कंडुआ रोग का नियंत्रण इन सारे पौधे को एकठा कर के नष्ट करे या तो प्रोपिकोनाजोल 25 EC का छिड़काव करना चाहिए।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल में काली कीड़ी का नियंत्रण करने के लिए पास इमिडाक्लोप्रिड 17.8 EC का छिड़काव करे। और गन्ने की फसल की रोपाई में भी सुधर कर के वसंत ऋतु में जल्द रोपाई करे।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल में मिली बग के नियंत्रण के लिए क्विनालफॉस या क्लोरोपायरीफॉस का 2 मिली दवा प्रति लीटर पानी या इमिडाक्लोप्रिड 200 मि.ली. 800 ली. पानी में घोल बना के छोडकाव करे

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

गन्ने की फसल में सफेद मक्खी का नियंत्रण करने के लिए जैविक नियंत्रण के लिए बेविरिया बेसिलना मेटाराहीजियम 250 ग्रा. एकड़ या ट्राइकोडर्मा 10 किलो प्रति हे.इस्तेमाल करे

Scribbled Underline