करण वंदना गेहूं की किस्म को DBW 187 के नाम से भी जाना जाता है

written By caneup.in

Image Credit: Google

Scribbled Underline

Image Credit: Google

गेहूं की इस किस्म को ICAR-भारतीय गेहूं जो अनुसंधान संस्थान करनाल द्वारा विकसित किया गया है।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

 गेहूं की इस किस्म कि खासियतों की बात करें

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

तो यह एक हेक्टेयर में लगभग 96.6 क्विंटल उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

करण वंदना गेहूं में पीला रतुआ और ब्लास्ट जैसी बीमारियों की संभावना बहुत कम होती है।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

खेती से संबंधित किसी भी जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

यह किस्म पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा राजस्थान दिल्ली और जम्मू के किसानों के लिए अच्छी एवं बेहतर होती है।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

करण वंदना गेहूं की किस्म की फसल मात्र 145 से 150 दिनों में तैयार हो जाती है।

Scribbled Underline
Scribbled Underline

Image Credit: Google

इसका प्रयोग बड़ी-बड़ी कंपनियां ब्रेड बनाने में अधिक प्रयोग करती हैं।

Scribbled Underline